0

बीवी की अदला बदली कर लिए चुदाई के मज़े Part -4

मैं सोच रहा था पता नहीं विनोद के दिमाग में अभी और क्या है। नेहा हाल में सभी मेहमानों का ख्याल रखने लगी। थोड़ी ही देर में सब मेहमान एक के बाद एक, जाने लगे।

नेहा जैसे ही किसी काम से नीचे को झुकती तो उसकी गाँड थोड़ा सा ऊपर को उठ जाती। विनोद उसे ही घूर रहा था, “सुशीलअब मैं तुम्हारी बीवी की गाँड मारूँगा जैसे तुमने मेरी बीवी की मारी थी।”
मैं यह सुन कर दंग रह गया। विनोद मेरी बीवी की कुँवारी गाँड मारेगा जैसे मैंने उसकी बीवी की मारी थी। फर्क सिर्फ़ इतना था कि उसकी बीवी की गाँड कुँवारी नहीं थी, वो इतनी खुली थी कि गाँड मरवाने में उसे कोई तकलीफ़ नहीं हुई थी। पर क्या नेहा सह पायेगी? यह सोच कर ही मेरे बदन में एक सर्द लहर दौड़ गयी।Neha is doing a part in kamsutra story in hindi she is now trying anal sex with stranger.

पंद्रह मिनट में सभी मेहमान चले गये। “चलो अब सब मिलकर इन औरतों का खयाल रखते हैं, लेकिन सबको जैसा मैं कहुँगा वैसा ही करना होगा।” हम सब ने हाँ में गर्दन हिलायी और सब वापस गेस्ट बेडरूम में आ गये।

रूम में आते ही विनोद बिस्तर पर बैठ गया। उसने नेहा और मिनी को अपने सामने खड़े होने को कहा। फिर वो अपने हाथ दोनों की चूत पर रखकर डिल्डो को अंदर घुसाने लगा। नेहा की जींस के ऊपर से और मिनी की पैंटी के ऊपर से।

“सुधा अब तुम अविनाश का लंड आज की शानदार चुदाई के लिए तैयार करो, पर ध्यान रखना कि इसका पानी नहीं छूटना चाहिए।” विनोद की बात सुनकर सुधा अविनाश को उसकी कुर्सी के पास ले गयी जहाँ थोड़ी देर पहले विनोद बैठा था। थोड़ी ही देर में सुधा ने अविनाश का लंड बाहर निकाल लिया था और उसे अपने मुँह में ले कर चूस रही थी।

अब सिर्फ़ मैं ही बचा था कि जो कुछ भी नहीं कर रहा था। फिर मैंने सुना कि विनोद नेहा को मिनी के कपड़े उतारने को कह रहा था। नेहा ने अपना हाथ बढ़ा कर मिनी के टॉप की ज़िप खोल दी जो थोड़ी देर पहले इसी तरह मैंने खोली थी। पर नेहा ने टॉप उसके कंधे से उठा कर उतार दिया और मिनी की चूचियाँ फिर एक बार नंगी हो गयी। अजीब कामुक दृश्य था, मेरी बीवी किसी और औरत के कपड़े उतार रही थी।

विनोद खड़ा हुआ और दोनों औरतों के पास आ गया। उसने मेरी बीवी का बाँया हाथ पकड़ा और मिनी की दाँयी चूंची पे रख दिया। फिर उसने नेहा का दाँया हाथ पकड़ कर मिनी की चूत पे रख दिया। मेरी बीवी की समझ में नहीं आ रहा था कि विनोद क्या चाहता है। दोनों औरतों ने आज तक किसी औरत के साथ सैक्स नहीं किया था।

विनोद ने नेहा की तरफ़ देखते हुए कहा, “मैं चाहता हूँ कि तुम मिनी की चूत चूस कर उसका पानी छुड़ा दो… फ़िर हम सब मिलकर तुम्हारी चूत पर ध्यान देंगे।” यह कहकर विनोद ने नेहा को मिनी के सामने घुटनों के बल बिठा दिया और उसके चेहरे को मिनी की गीली हो चुकी पैंटी पे धकेल दिया।kamsutra story in hindi is a sex story of wife swapping and group sex in a party and in Goa.

एक बार तो सुधा और अविनाश भी रुक से गये और मैं भी हैरत में खड़ा सोच रहा था कि क्या सचमुच मेरी बीवी इस औरत की चूत चूसेगी। पर नेहा जो पिछले चार घंटे से अपनी चूत में डिल्डो लिए घूम रही थी और उसकी चूत पानी छोड़ने को बेताब थी, नेहा ने अपने हाथ मिनी की पैंटी के इलास्टिक में फँसाये और उसे नीचे उतार दिया। जैसे ही मिनी की पैंटी नीचे सरकी तो सबने देखा कि उसकी चूत भी साफ़ की हुई थी। बाल का तो नामो निशान नहीं था चूत पर।

नेहा ने उसकी पैंटी को और नीचे खिसकाते हुए उसके सैंडल युक्त पैरों के बाहर निकाल दिया। अब मिनी सिर्फ हाई हील के सैंडल पहने, पूरी तरह से नंगी खड़ी थी। नेहा ने अपने हाथ उसके कुल्हों पे रख कर उसे अपने पास खींचा और अपना मुँह उसकी चूत पे रख दिया। वो अब अपनी अँगुली से उसकी चूत का मुँह खोल कर अपनी जीभ डिल्डो के साथ अंदर घुमाने लगी।

नेहा अब जोरों से मिनी की चूत को चाट और चूस रही थी और साथ ही उसकी चूत में फँसे डिल्डो को जोरों से अंदर-बाहर कर रही थी। “ओहहहहहह आहहआआआआआआ और जोर से…… हँआआआआआआ चूसो मेरी चूत को…. छुड़ाआआआ दो मेरा पानी।” मिनी सिसक रही थी। मिनी की साँसें तेज हो रही थी और साथ ही उसकी चूचियाँ उसकी छाती पर फुदक रही थीं।

नेहा अपनी जीभ और डिल्डो की रफ़्तार बढ़ाती जा रही थी, और साथ ही मिनी की चूत पानी छोड़ने के कगार पर आ रही थी। मिनी ने अपने दोनों हाथ नेहा के सर पर रख दिए और उसे जोर से अपनी चूत पे दबा दिया। उसकी चूत ने पानी छोड़ना शुरू कर दिया। फच-फच की आवाज़ के साथ उसकी चूत पानी छोड़ रही थी। नेहा का पूरा चेहरा मिनी की चूत से छुटे पानी से भर गया था। नेहा और जोरों से चूसते हुए उसकी चूत के सारे पानी को पी रही थी। आखिर में थक कर मिनी बिस्तर पर निढाल पड़ गयी और गहरी साँसें लेने लगी।

नेहा उठ कर खड़ी हो गयी। उसने अभी भी कपड़े पहने हुए थे। आज उसने पूरे दिन में पहले विनोद के लंड को चूसा था और बाद में अविनाश के लंड को। और अब वो हम सब के सामने मिनी की चूत का पानी पीकर खड़ी हुई थी। उसके चेहरे पर संतुष्टि के भाव थे पर उसके जिस्म की प्यास अभी बाकी थी। मैं आगे बढ़ा और अपनी बीवी को बांहों भर लिया। मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रखे तो मुझे मिनी की चूत के पानी की महक और स्वाद आया। मैं उसके होंठों को चूसने लगा।

मैंने अपना हाथ नेहा की जींस के ऊपर से उसकी चूत पर रखा तो पाया कि वो पहले से ज्यादा गीली हो चुकी थी। जैसे ही मैंने उसकी चूत को सहलाया वो सिसक पड़ी, “ओहहहहहह आआआहहहहआआआआ हुम्म्म्म्म।”

विनोद ने हम दोनों को अलग किया और मेरी बीवी को चूमते हुए उसे बिस्तर के पास ले गया। फिर उसने नेहा से पूछा, “क्या तुम मुझसे गाँड मरवाना पसंद करोगी?” नेहा ने पहले तो उसकी तरफ़ देखा और फिर मेरी तरफ़। उसके पास कोई जवाब नहीं था क्योंकि अगर वो ना कहती तो हम शर्त हार जाते। मैं भी थोड़ी देर पहले उसकी बीवी की गाँड मार चुका था, इसलिए मेरे पास भी ना करने की कोई वजह नहीं थी। मैं सिर्फ़ वहाँ पर खड़ा अपनी बीवी की गाँड मरते देख सकता था।

विनोद ने नेहा के होंठों को चूसते हुए उसके लाल टॉप के बटन खोल कर उसके टॉप को उतार दिया। अब वो अपने एक हाथ से उसकी चूँची को दबा रहा था और दूसरे हाथ से उसके निप्पलों को भींच रहा था। नेहा के मुँह से सिस्करी फूट रही थी, “हाँ दबाओ न…. पर धीरे…. हाँ ऐसे ही… ओओहहहहहह आआआहहहह”| Vinod is using Kamsutra story in hindi as a source of fucking the wife of Sushil.

नेहा की चूचियों को मसलते हुए विनोद अपने हाथ उसकी जींस पे ले जाकर बटन खोलने लगा। सुधा आगे बढ़ कर उनके पास नीचे बैठ गयी और नेहा की जींस को नीचे उतारने लगी। दोनों ने मिलकर मेरी बीवी को पूरा नंगा कर दिया।

नेहा भी अब मिनी की तरह सिर्फ हाई हील के सैंडल पहने पूरी तरह नंगी खड़ी थी। उसकी चूत में घुसा डिल्डो साफ नज़र आ रहा था। विनोद और सुधा ने मिलकर उसे बेड के किनारे पर झुका दिया। सुधा अब उसके सामने आकर बिस्तर पर बैठ गयी और नेहा की चूचियों को चूसने लगी। थोड़ी देर चूसने के बाद वो बिस्तर पर इस तरह से लेट गयी कि नेहा का मुँह ठीक उसकी चूत पे था। सुधा ने नेहा के सिर को पकड़ कर उसे अपनी चूत पे दबा दिया। Neha is licking the pussy of Sudha in  Kamsutra story in hindi is the best part of story.

नेहा अब बिस्तर के किनारे पर झुकी सुधा की चूत चूस रही थी। इस तरह झुकने से उसकी गाँड हवा में और ऊपर को उठ गयी थी। पीछे से उसकी चूत में फँसा डिल्डो तो दिख ही रहा था साथ ही उसकी गाँड का छेद भी दिखायी दे रहा था। हम सब जानते थे कि अब विनोद अपना लंड उसकी गाँड मे घुसायेगा, पर उसके मन में तो कुछ और ही था।

विनोद मेरी तरफ़ मुस्कुरा के देख रहा था, “सुशीलआज शाम को मेरी बीवी ने तुम्हें सिखा ही दिया होगा कि एक अच्छी गाँड को चुदाई के लिए कैसे तैयार किया जाता है। बाथरूम मे जाओ और क्रीम ले आओ और बताओ कि तुमने क्या सीखा।” फिर उसने मिनी की तरफ़ देखकर कहा, “तुम मेरे लंड को तैयार करोगी?” He is commanding to put the cream on anal in Kamsutra story in hindi to make it soft.

बिना कुछ कहे मैं बाथरूम में जाकर वही क्रीम ले आया जो मैंने सुधा पे इस्तमाल की थी। मिनी मेरे पास आयी और मुझे थोड़ी क्रीम उसके हाथों पे देने को कहा। कैसी शर्त थी कि मैं अपने हाथों से अपनी बीवी की गाँड को किसी दूसरे मर्द के लंड के लिए तैयार करूँ। पर मैं शर्त हारना नहीं चाहता था इसलिए मैं क्रीम लिए नेहा के पास आ गया।

मैंने खूब सारी क्रीम अपनी अँगुलियों में ली और उसे नेहा की गाँड के चारों और मलने लगा। फिर मैंने अपनी एक अँगुली उसकी गाँड में डाल दी, “ओहहहहह मर गयीईई,” नेहा के मुँह से हल्की सी चींख निकल गयी। नेहा अब भी सुधा की चूत को चाटे जा रही थी।

मैंने थोड़ी और क्रीम अपनी अँगुली में ली और दो अँगुलियाँ उसकी गाँड में डाल दीं। अब मैं अपनी अँगुलियों को उसकी गाँड में चारों तरफ़ गोल गोल घुमा रहा था। विनोद मेरे पास खड़ा मेरी सभी हर्कतों को देख रहा था और उसके पैरों में बैठी मिनी उसके लंड को क्रीम से चिकना कर रही थी। I put cream on her anal hole and rub gently to make it soft and enjoy Kamsutra story in hindi.

अब मेरी अँगुलियाँ आसानी से नेहा की गाँड में अंदर तक जा रही थीं। जब मैं अँगुलियाँ घुमाता तो उसकी चूत में फँसे डिल्डो का एहसास होता मुझे। मैं और अंदर तक क्रीम को मलने लगा। नेहा को भी शायद मज़ा आने लगा था। उसने जोरों से सुधा की चूत चूसते हुए अपने टाँगें और फैला दीं जिससे मैं और आसानी से उसकी गाँड में अँगुली कर सकूँ।

मिनी भी अब तक अच्छी तरह से विनोद के लंड को क्रीम से चिकना कर चुकी थी। विनोद अपनी जगह से हिला और मुझे साईड में कर दिया। अब उसका लंड क्रीम से चिकना था। उसका तना हुआ लंड एक हथियार की तरह चमक रहा था। जैसे ही विनोद ने अपना लंड नेहा की गाँड पे रखा वो सिसक कर और जोरों से सुधा की चूत को चूसने लगी। वो उसकी चूत को ऐसे चूस रही थी कि जैसे वो इस कला में बरसों से माहिर हो।

मिनी और अविनाश भी पास में आकर खड़े हो गये। वो भी किसी कुँवारी गाँड की चुदाई देखना चाहते थे। मुझे अंदर से शरम आ रही थी कि अपनी बीवी की गाँड मैं सबसे पहले मारूँ, उसके बजाय मैंने ही अपनी बीवी की गाँड को दूसरे मर्द के लंड के लिए तैयार किया था।

विनोद ने नेहा के कुल्हों को पकड़ कर उसकी गाँड के छेद को और फैला दिया। विनोद के दोनों हाथ नेहा के कुल्हों को पकड़े हुए थे। मिनी ने आगे बढ़ कर विनोद के लंड को ठीक नेहा की गाँड के छेद पर रख दिया और विनोद अब अपने लंड को अंदर घुसाने लगा। मिनी अभी भी उसके लंड को पकड़े हुए थी। इतनी सारी क्रीम लगने से उसका लंड और नेहा की गाँड पूरी तरह चिकनी हो गयी थी जिससे विनोद के लंड का सुपाड़ा उसकी गाँड में आसानी से घुस गया।

मिनी ने अपना हाथ उसके लंड पर से हटा लिया। अब जबकि सुपाड़ा घुस चुका था, विनोद धीरे-धीरे अपने लंड को और अंदर तक घुसाने लगा। उसके हर धक्के के साथ नेहा की सिस्कार गूँजती, “ओहहहहहह….. आआआहहहहहहह…. थोड़ा धीरे…. दर्द हो रहाआआआआ है।” थोड़ी देर में उसका पूरा लंड नेहा की गाँड में घुस चुका था। अब उसकी गाँड कुँवारी नहीं रही थी।

नेहा अब भी सुधा की चूत चूसे जा रही थी। जब विनोद का पूरा लंड उसकी गाँड मे घुस गया तो जोर की सिस्करी निकली, “ओहहहहह हँआँआँआँ।” विनोद का लंड नेहा की गाँड की दीवारों को रौंदता हुआ जड़ तक समा गया था।

विनोद ने मिनी और मेरा धन्यवाद दिया कि हम दोनों ने नेहा की गाँड मारने में उसकी सहायता की और कैसे उसका लंड नेहा की गाँड में अंदर तक घुसा हुआ है और कैसे नेहा की गाँड उसके लंड को भींचे हुए है। उसने बताया कि उसे नेहा की चूत में फँसे डिल्डो का भी एहसास हो रहा है और ये उत्तेजना उसके लंड से लेकर उसकी गोलियों तक जा रही थी। विनोद जान बूझ कर ये सब बातें बता कर मुझे चिढ़ा रहा था। “हरामी साला” मेरे मुँह से गाली निकली। Vinod is expert in anal sex and he read in Kamsutra story in hindi to learn all tactics.

लेकिन अब तक मैं अपना लंड अपनी पैंट में से निकाल कर सहला रहा था। सब जानते थे कि मेरी बीवी की गाँड की चुदाई ने मुझे भी उत्तेजित कर दिया था। पर जो होने वाला था उसके आगे ये कुछ भी नहीं था। मिनी अब उनसे दूर जा कर खड़ी हो गयी। विनोद का लंड नेहा की गाँड में अंदर बाहर हो रहा था। विनोद अपने लंड को करीब तीन इंच बाहर खींचता और अपने आठ इंच के लंड को पूरा जड़ तक पेल देता।

विनोद जानबूझ कर धीरे-धीरे धक्के लगा रहा था। पर समय के साथ उसकी रफ़्तार तेज हो रही थी। अब वो पाँच इंच लंड को बाहर निकालता और पूरा पेल देता। थोड़ी देर में वो अपने लंड का सुपाड़ा सिर्फ़ अंदर रहने देता और एक झटके में पूरा लंड नेहा की गाँड में डाल देता। नेहा की गाँड पूरी तरह खुल गयी थी और हर झटके को वो अपने कुल्हों को पीछे कर के ले रही थी, “हाँ डाल दो पूरा लंड मेरी गाँड में…. ओहहहहहह हँआँआँ और जोर से…. हँआँआँ चोदो…. फाड़ दो मेरी गाँड को।”She is moaning high during Kamsutra story in hindi and enjoy.

नेहा उन मिंया-बीवी के बीच सैंडविच बनी हुई थी। नीचे से सुधा अपनी चूत को ऊपर उठा कर उसके मुँह में भर देती और पीछे से विनोद उसके कुल्हों को पकड़ कर जोर से लंड पेल देता। जैसे ही उसका लंड अंदर तक जाता, नेहा का मुँह सुधा की चूत पे और जोर से दब जाता। विनोद उसकी गाँड भी मार रहा था और उसकी चूत में फँसे डिल्डो को और अंदर की और घुसा देता।

अब अविनाश भी इस खेल में शामिल होना चाहता था। उसने भी अपने कपड़े उतार दिए और अपने लंड को सहलाने लगा। अपने लंड को सहलाते हुए वो सुधा के चेहरे के पास आ गया। अविनाश अपने लंड को उसके मुँह के पास कर के उसके होंठों पर रगड़ने लगा। सुधा ने अपने हाथ से उसका लंड पकड़ कर अपने मुँह में ले लिया और वो जोरों से अविनाश के लंड को चूसने लगी।

अब मैं और मिनी ही बचे थे। मिनी तो पहले ही नंगी थी। मैं भी कपड़े उतार कर पूरा नंगा हो कर अपने लंड को सहला रहा था। मिनी मेरे पास आ कर मेरे नंगे बदन से सट गयी और सहलाने लगी। हम भूखे कुत्तों की तरह एक दूसरे के बदन को नोच रहे थे और मसल रहे थे, पर हम अपनी नज़रें बिस्तर से नहीं हटा पा रहे थे जहाँ एक का पति दूसरे की पत्नी से अपना लंड चूसवा रहा था और मेरी बीवी दूसरे की बीवी की चूत चूस रही थी और उसके पति से अपनी गाँड मरवा रही थी। She is feeling pain and enjoy of anal sex in Kamsutra story in hindi.

अचानक नेहा ने अपना मुँह सुधा की चूत से ऊपर उठाया और जोर से चींख पड़ी, “ओहहहह ये नहीं हो सकता।” मैं सोच में पड़ गया कि अचानक उसे क्या हुआ, क्या उसका पानी छूटने वाला है या उसकी गाँड दर्द कर रही है। “हे भगवान…. प्लीज़ ऐसा मत करो।” वो फिर बोली और उसकी आँखों मे आँसू आ गये। She is feeling very high pain during anal sex and thanks to Kamsutra story in hindi.

तब विनोद ने उसके चींखने की वजह बतायी, “सुशीलडरो मत यार… इसके डिल्डो की बेटरी खतम हो गयी है… बेचारी।” अब मेरी समझ में आया कि जब उसका पानी छूटने वाला था तभी डिल्डो की बेटरी खतम हो गयी। और कितना चलती… पाँच घंटे सो तो वो उसे अपनी चूत में डाले घूम रही थी।Due to Kamsutra story in hindi she is about to cum and enjoy the anal sex moaning oh oh oh oh.

नेहा फिर अपनी उत्तेजना के अंतिम कगार से वंचित रह गयी। विनोद उसकी गाँड में जोर के धक्के मारते हुए बोला, “नेहा डार्लिंग… चिंता मत करो, मैं वादा करता हूँ कि आज तुम्हें चुदाई का वो आनंद आयेगा कि तुम्हारी चूत खुले बाँध की तरह पानी फ़ेंकेगी।” नेहा ने अपना चेहरा उठा कर विनोद की और देखा। उसकी समझ में नहीं आ रहा था कि और क्या उसके दिमाग में है।

हमने देखा कि अपनी चूत की प्यास बुझाने के लिए नेहा खुद अपने बंद हुए डिल्डो को पकड़ कर अंदर बाहर करने लगी, पर विनोद ने उसका हाथ हटा दिया। अब विनोद ने नेहा को उसकी छातियों से पकड़ा और पीछे की और हो गया। थोड़ी देर इस तरह होने के बाद उसने अपनी टाँगें सीधी की और पीठ के बल लेट गया। अब वो जमीन पर लेटा था और नेहा उसके ऊपर उसका लंड अपनी गाँड मे लिए आधी लेटी थी। नेहा ने अब अपनी टाँगें फैला दी जिससे विनोद का लंड उसकी गाँड में घुसा हुआ दिख रहा था और साथ ही चूत में फँसा डिल्डो भी।

सुधा अब अविनाश के लंड को अपने मुँह से बाहर निकाल कर अपने हाथों से उसे मसल रही थी। पर वो खुद छूटने की कगार पर थी, इसलिए वो खड़ी हो गयी और अपनी दोनों टाँगें चौड़ी कर के अपनी चूत नेहा के मुँह पर रख दी, “जो तुमने शुरू किया है उसे तुम्हें ही खतम करना पड़ेगा। मेरी चूत जोरों से चूसो और मेरा पानी छुड़ा दो।”Along with anal she is licking the pussy in Kamsutra story in hindi.

नेहा अपनी जीभ का तिकोण बना कर उसे चोद रही थी। सुधा और थोड़ा झुकते हुए अपनी चूत को और दबा देती। उसका चेहरा पीछे की और था और उसके बाल विनोद के पेट को छू रहे थे। “हँआँआँआँ चू..ऊऊऊऊऊस ओहहहहहह आहहहहहह “हाँआँआँ जोर से… हूँऊऊऊऊ….,” कहकर सुधा की चूत ने नेहा के मुँह में पानी छोड़ दिया। नेहा गटक-गटक कर उसका पानी पी रही थी। जब एक-एक बूँद सुधा की चूत से छूट चुका था तो वो निढाल हो बिस्तर पर गिर गयी।

विनोद अभी तक उसी तरह अपना लंड नेहा की गाँड में घुसाये लेटा था। फिर उसने अपनी आखिरी चाल चली, “अविनाश मेरा तो पानी अब छूटने वाला है, ऐसा दृश्य देख कर… क्यों नहीं तुम अपना लंड इसकी चूत में डाल देते हो।”

अब मेरे और अविनाश की समझ मे आया की विनोद क्या चाहता था। अविनाश उछल कर नेहा की टाँगों के बीच आ गया। उसने अपना हाथ नेहा की चूत में फँसे डिल्डो पर रखा। पर उसे बाहर निकालने की बजाय वो उसे अंदर-बाहर करने लगा।

थोड़ी देर बाद अविनाश अपने लंड को नेहा की चूत के मुँह पे लगा कर धीरे-धीरे अंदर करने लगा और साथ ही डिल्डो को बाहर खींचने लगा। जितना उसका लंड अंदर जाता उतना ही वो डिल्डो को बाहर खींच लेता। मैंने देखा कि डिल्डो पूरी तरह से नेहा की चूत के पानी से लसा हुआ था और चमक रहा था। जब अविनाश का पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया तो उसने डिल्डो बाहर निकाल कर मेरे हाथ में पकड़ा दिया।

मुझे विश्वास नहीं हो रहा था कि जो डिल्डो मेरी बीवी की चूत में पिछले पाँच घंटे से घुसा हुआ था, वही अब उसके पानी से लसा हुआ मेरे हाथ में है। मैंने बिना हिचकिचाते हुए उसे अपने मुँह में ले चाटने लगा। मुझे उसकी चूत के पानी का स्वाद सही में अच्छा लग रहा था। जब मैंने उसे चाट कर साफ कर दिया तो उसे बिस्तर पर रख दिया। Now Avi push her dick inside pussy of Neha at Kamsutra story in hindi.

मिनी अब तक मेरे लंड को पकड़े हुए थी। उसने मेरी तरफ देखा और घुटनों के बल बैठ कर मेरे लंड को अपने मुँह में ले कर चूसने लगी। वो एक हाथ से मेरा लंड पकड़ कर चूस रही थी और दूसरे हाथ की अँगुलियों से अपनी चूत को चोद रही थी। पर उसकी नज़रें वहीं गड़ी थीं जहाँ मेरी बीवी की दोहरी चुदाई हो रही थी।

मैंने अपना ध्यान मिनी से हटाया और फिर नेहा पर केंद्रित कर दिया। मैंने देखा कि अविनाश आधा खड़ा हो अपने लंड को नेहा के मुँह में दे कर धक्के मर रहा था। नेहा भी पूरे जोर से उसे चूस रही थी। जब उसका लंड पूरी तरह से तन गया तो वो नेहा के थूक से लसे अपने लंड को ले कर नेहा की टाँगों के बीच आ गया।Now they tur into thresome in  Kamsutra story in hindi and she enjoy a lot .

नेहा अपनी टाँगें थोड़ी और चौड़ी कर के पीछे को पसर गयी। अविनाश एक हाथ से अपने लंड को पकड़ कर नेहा की चूत पे रगड़ने लगा। अब मेरी बीवी की दो लंड से चुदाई होने वाली थी। एक उसकी गाँड में और दूसरा उसकी चूत में।

अविनाश ने नेहा की एक टाँग को जाँघों से पकड़ा और अपनी कोहनी पे रख दी। इससे नेहा की चूत और खुल गयी। थोड़ी देर अपने लंड को रगड़ने के बाद उसने एक ही धक्के में अपना लंड उसकी चूत में पेल दिया। अब वो धक्के लगा कर उसकी चूत को चोद रहा था।

नेहा विनोद की छाती पर लेटी अपनी ज़िंदगी की सबसे भयंकर चुदाई का आनंद ले रही थी। उसका चेहरा इधर-उधर हो रहा था और साथ ही उसके मुँह से सिस्करियाँ फूट रही थी।Kamsutra story in hindi is now on turning point because all are going to cum.

मैं अंदाज़ा लगाने की कोशिश कर रहा था कि जब एक लंड चूत की जड़ों तक पहुँचता है और दूसरी तरफ़ दूसरा लंड गाँड की जड़ों तक पहुँचता है तो शरीर में दोनों लंड के संगम का आनंद कैसा रहता होगा। नेहा इसी संगम का आनंद उठा रही थी, “मैं तुम दोनों के लंड को अपने में महसूस कर रही हूँ, अभी जोर से चोदो मुझे… हाँ और जोर से… रुको मत बस चोदते जाओ।”

विनोद ने एक जोर की हुँकार भरी और अपने कुल्हे ऊपर को उठा दिए। अविनाश ने भी नेहा के कुल्हों को पकड़ कर अपने लंड को अंदर तक पेल दिया। मैं समझ गया कि दोनों छूटने की कगार पर हैं। नेहा का भी समय नज़दीक आता जा रहा था, “हँआआआआआआ और जोर से… ओओहहहहह ऊईईईईईईईईईईईई।” They are not doing sex hard inKamsutra story in hindi as they about to cum.

मुझे खुद को रोकना मुश्किल हो रहा था। मिनी इतनी जोर से मेरे लंड को चूस रही थी और साथ ही अपने दाँतों का भी इस्तमाल कर रही थी। पर मिनी की आँखें अपने पति के लंड पे जमी थीं जो मेरी बीवी की चूत में एक पिस्टन की तरह अंदर बाहर हो रहा था।

और फिर वो हुआ जिसका सबको इंतज़ार था, नेहा जोर से चींखी “ओहहहहहहहह हाँआआआआआआआआ ओहहहहहहहहह हाय आआआआआआआआआ,” और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया। उसका शरीर इस तरह अकड़ रहा था कि क्या बताऊँ। इतने में विनोद के लंड ने भी उसकी गाँड में अपना वीर्य उगल दिया।

अविनाश ने नेहा की दोनों चूचियों को जोर से मसला और उसके लंड ने उसकी चूत में बौंछार कर दी। मैं कल्पना कर रहा था कि नेहा की चूत और गाँड, वीर्य से भरी कैसी होगी कि तभी मेरा भी शरीर अकड़ा और मैंने अपना वीर्य मिनी के मुँह में उगल दिया।

मिनी ने मेरे लंड को अपने मुँह से निकाला और बेड पर से डिल्डो को उठा कर अपनी चूत के अंदर बाहर करने लगी। थोड़ी देर में उसकी चूत ने भी पानी छोड़ दिया। कसम से ऐसी सामुहिक चुदाई की कल्पना नहीं की थी मैंने।

मुझे इस बात की खुशी थी कि हम शर्त जीत ना सके तो क्या पर हारे भी नहीं थे। अब देखते हैं कि छुट्टियों में क्या गुल खिलते हैं।Now She is cuming and moaning aah aah ah oh in Kamsutra story in hindi and Vinod also moaning and he i

Hindi Antarvasna

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *