0

गर्लफ्रेंड को नंगा कर खूब चोदा

Sex With GirlFriend बात उन दिनों की है जब में अभी जवान हुआ ही था मेरी क्लास में एक बहुत ही सुंदर और गजब की खूबसूरत लड़की थी नाम था आलिया मेरी उससे दोस्ती हो गयी थी Sex With GirlFriend|

कई बार हम डेट पर घूमने जाते थे पार्क में और कभी फिल्म देखने और कई घंटो तक केवल बातें करते रहते| एक दिन हम डेट करने पार्क में गए और बातें करते करते मैंने उसको किस करने की कौशिश की लेकिन उसने मुझे किस नहीं करने दिया लेकिन में एक बार चुम्बन लेकर उससे आने वाला मजा देखना चाहता था मैंने आलिया का सर अपनी गोद में रखा और उसके बालों में हाथ फेरने लगा और बीच बीच में उसके माथे और मुंह पैर भी फेर देता था| Sex

 

 

मैंने यह नोट किया की जब में उसके माथे पर हाथ फेरता तो वो आख्ने बंद कर लेती थी मैं एसे ही मोके की तलाश में था अब मैंने अपना हाथ उसके माथे पर रखा और उसके फेस पर फेरने लगा उसने जैसे ही आखें बंद की मैंने अपना मुंह झुका कर उसके होंठो को अपने होंठो में भर लिया वो थोडा छटपटाई लेकिन मैंने एस बार ठान लिया था की छोड़ना नहीं है और मैं उसके होंठो को चूसता रहा थोड़ी देर में आलिया को भी मज़ा आने लगा और वो भी मेरे होंठो को चूसे लगी क्या असीम आनंद था पहली बार में किसी लड़की का चुम्बन ले रहा था पूरे शरीर में एक कम्पन सी हो रही थी और बहुत मजा आ रहा था चुम्बन लेते लेते मैंने अपनी जीभ आलिया के मूंह में डाल दी और वो उसे भी चूसने लगी क्या आनंद था लिंग एक दम से टाइट हो गया था |Sex With GirlFriend.

हम दोनों एक दुसरे के होंठो को पागलो की तरह चूसे जा रहे थे आलिया का बदन भी एकदम से गरम हो गया था यह मैंने महसूस किया | जैसे ही हम दोनों के होंठ अलग हुए तो मैंने देखा आलिया का मूह एक दम से लाल हो गया था और चमक रहा था वो मेरी गोद में थी लेकिन मुझसे नजरें नहीं मिला रही थी शायद शर्मा रही थी |Sex With GirlFriend.

मैंने उसे अब अपनी टांगो पर बिठा लिया और वो आराम से बैठ गयी मैंने अपने दोनों हांथो से उसके मुंह को प्यार से पकड़ा और फिर अपने होंठ उसके होंठो के पास ले कर अगले चुबन के लिए गया इस बार उसने विरोध नहीं किया और अपनी आखें बंद कर ली और हम फिर से एक दुसरे के होंठ चूसने लगे वो इस बार मेरी टांगो पर बैठी थी और धीरे धीरे मुझ से चिपक गयी अब उसके बूब्स मेरी छाती के साथ सटे हुए थे और जिस प्रकार से मेरा लिंग तना हुआ था उसमे निप्पल भी मुझे ताने हुए महसूस हो रहे थे | क्या नज़ारा था मेरे लिए तो यह स्वर्ग के सामान था | मैंने एक हाथ से उसके एक बूब को दबाने लगा तो अलिया ने अपने हाथ से मेरा हाथ पकड़ लिया लेकिन हटाया नहीं तो में समझ गया की वो चाहती तो है लेकिन शायद पार्क में होने के कारण शर्मा रही है | और उस दिन हमने केवल एक दुसरे के चुम्बन ले कर ही संतुष्टि की लेकिन दोनों में सेक्स की आग लग चुकी थी बस अब मोके का इंतज़ार था |Sex

 

G

फिर एक दिन मोक्का आ ही गया मेरे घर वालों को दुसरे शहर एक शादी पर जाना पढ़ा और मेरे एग्जाम के कारण में नहीं जा सकता था | सब लोगो को में सुबह रेलवे स्टेशन पर छोड़ कर घर आया तो मेरे दिमाग में आलिया को बुलाने का ख्याल आ गया  और मैंने उसे स्कूल के बाहर से ही बंक मरवा दिया और उसे अपने घर ले आया | पहले तो वो बहुत डर गई लेकिन बाद में सामान्य हो गयी | वो सोफे पर बैठी थी में उसके साथ सट कर बैठा था और उसकी जांघो पर हाथ फेर रहा था | वो स्कूल की ड्रेस में थी मतलब सफ़ेद शर्ट और चेक वाली स्कर्ट पहने हुयी आम तोर पर लड़कीयां स्कर्ट के नीचे शोर्ट भी पहनती है आलिया ने भी पहना हुआ था | हम बातें कर रहे थे कभी में उसकी गोद में सर रख देता था और कभी वो मेरी गोद में सर रख देती थी अब मेरे से रहा नहीं जा रहा था मैंने उसको किस करने के लिए अपने होंठ उसके होंठो के करीब ले कर गया उसने ज्यादा मना  नहीं किया और चुम्बन शुरू हो गया हम एक दुसरे को चुम्बन करते करते एक दुसरे से चिपक गए थे इतना ज्यादा की बीच से हवा भी पास नहीं हो सकती थी |Sex With GirlFriend.

 

मैं अपने हांथो से उसकी कमर को सहला रहा था और वो मेरे बालों को , मेरा लिंग पेंट के अन्दर ही तन गया था और पेंट फाड़ कर बाहर आना चाहता था | मैंने धीरे से एक हाथ आलिया के बूब पर रखा तो उसने फिर से मेरा हाथ अपने हाथ से हटाना चाहा लेकिन मैंने उसे हटाने नहीं दिया और उसके एक बूब पर धीरे धीरे से हाथ को फिराने लगा और उसके निप्पल को टच करने लगा उसने नीचे ब्रा पहनी थी लेकिन निप्पल की कड़क उसके उपर से भी महसूस हो रही थी |

 

 

मैंने चुम्बन करते करते उसकी शर्ट के बटन खोलने शुरू किये उसे पता भी नहीं चला और मैंने धीरे से उसकी शर्ट के सारे बटन खोल दिए और अपने हाथ को उसकी ब्रा के ऊपर से उसके बूब को स्पर्श करने लगा मेरे हाथ के स्पर्श से उसे पता चल गया की उसके बटन खुल गए है उसने मेरे होंठो को छोड़ा और बोली नहीं विजय यह ठीक नहीं है प्लीज ऐसा मत करो | मैंने आलिया को समझाया क्या गलत है यार हम केवल ऊपर ऊपर से प्यार ही तो कर रहे है | लेकिन वो नहीं मानी और बोली की नहीं तुम बहुत आगे बढ़  रहे हो यह ठीक नहीं है | मैंने उसे समझाया की “ तुम मेरा विश्वास करो जब तक तुम नहीं कहोगी हम कुछ ऐसा नहीं करेंगे जो गलत हो यह तो केवल शारीरिक आनंद है जितना तुम चाहोगी में उतना ही करूंगा लेकिन मुझे आज रोको मत प्लीज | उसने मुझसे वादा लिया और मैंने भी कहा की जब तक तुम नहीं चाहोगी  में सेक्स नहीं करूंगा लेकिन ऊपर ऊपर से मजा लेने में क्या हर्ज़ है और वो मान गयी | अब मैंने उसकी शर्ट को उतार दिया पहले तो बहुत मन किया उसने लेकिन वो मान गयी जब मैंने उसे वादे की याद दिला दी | Sex

With GirlFriend.

अब आलिया मेरे सामने  केवल ब्रा और स्कर्ट में थी उसके गोरे बदन को देख कर मैं तो जैसे पागल हो गया था और उसकी तारीफ़ किये जा रहा था | “वोव्व आलिया क्या बात है कितना प्यारा फिगर है तुम्हारा यार में तो पागल हो गया हूँ “| वो शर्मा गयी | मैं फिर से उसके चुम्बन में लग गया और वो भी मेरा साथ देने लगी एस बार मैं उसकी नंगी पीठ पर हाथ चला रहा था और वो भी आहें भर रही थी मैंने अब उसकी स्कर्ट को निशाना बनाया और उसकी हुक खोली और ज़िप भी खोल दी स्कर्ट बहुत आराम से उतर जाती है और ऐसा ही हुआ स्कर्ट उसके पैरों में गिर गयी वो फिर से सकपकाई और होंठ का चुम्बन छोड़ कर पीछे हटने लगी लेकिन मैंने उसे अपनी बाहों में जकड रखा था इसलिए वो बोली विजय तुम फिर बहुत आगे बढ़  रहे हो  मैंने उसे समझाया कुछ नहीं होगा आलिया हम केवल उपर उपर से मजे लेंगे और बस कपडे उतार कर मजा कुछ ज्यादा आएगा मैंने तुमसे वादा तो किया ही है की तुम्हारी मर्जी की बिना में कोई भी गलत काम नहीं करूंगा |

 

और मैंने दोबारा से उसके होंठो को चूसना शुरू कर दिया वोह भी साथ देने लगी अब मेरा निशाना उसके शोर्ट पर था और मैंने वो ही किया उसके शोर्ट को उतारने में थोड़ी मेहनत ज्यादा करने पड़ी लेकिन मैंने उसे भी उतार कर ही दम लिया | अब आलिया केवल ब्रा और पेंटी में मेरे सामने थी और मैं उसके बदन की तारीफ ही किये जा रहा था क्योंकि उसका बदन था भी तारीफ़ के काबिल | वो बहुत शर्मा रही थी और मुझसे नज़रें नहीं मिला रही थी उसकी शर्म खोलने के लिए मैंने अपने भी कपडे उतार दिए और केवल अंडरवियर में आ गया और उसे अपनी बाहों में भर लिया मेरे शरीर का गरम सपर्श पा कर वो भी जैसे पागल हो गयी और मुझसे लिपट गयी |

 

 

अब मैंने फिर से उसका चुम्बन लिया और अब उसके बूब्स के उपर भी चुम्बन करने लगा उसके दूध के रंग के बूब्स ब्रा के अंदर इतने आकर्षित लग रहे थे की मुझ से रहा नहीं जा रहा था| मैं उन्हें ब्रा की कैद से आज़ाद करना चाहता था लेकिन जल्दी में कहीं काम न खराब हो जाए इस लिए आराम से कर रहा था बहुत देर तक मैं उसके पूरे बदन पर ऐसे ही चुम्बन करता रहा वो पूरी तरह से गरम हो चुकी थी|Sex With Girl

Friend.

अब मैंने उसके होंठो को दोबारा चूसना शुरू किया और पीठ पर हाथ फेरा कर उसकी ब्रा के हुक को भी खोल दिया वो इतनी मस्त हो चुकी थी की उसको एहसास नहीं हुआ और जैसे ही मैंने ब्रा को उसके शरीर से अलग करना चाहा तो उसने थोडा सा विरोध किया लेकिन अब उसका विरोध बहुत हल्का था इसलिए मैंने आराम से अलिया को ब्रा मुक्त कर दिया और उसके बूब्स को आजाद कर दिया उसके बूब्स पर  पिंक कलर के निप्पल क्या गज़ब ढहा रहे थे|Sex W

ith GirlFriend.

मेरे से रहा नहीं गया और मैंने उसके एक निप्पल को अपनी जीभ से चूसने लगा और दुसरे को हाथ से दबाने लगा आलिया की तो सिस्कारिया निकलने लगी आह उह आह उह कर के मेरा लिंग और तन गया मैंने साथ साथ उसकी पेंटी को भी नीचे कर दिया और उसकी मखमली चिकनी चूत पर हाथ फेरने लगा वो इतनी ज्यादा गरम हो गयी थी की मेरी किसी भी बात का विरोध नहीं कर रही थी मैंने एक ऊँगली उसकी चूत के अन्दर डाल कर धीरे धीरे से अन्दर बाहर करने लगा उसको बहुत मज़ा रहा था मैंने अपना लंड उसके एक हाथ में पकड़ा दिया वो उसे दबाने लगी मैं तो जैसे सातन्वे आसमान पर था |Sex With GirlFriend.

 

 

मैंने उसे गोद मैं उठाया और बेड पर ले गया और उसके ऊपर लेट कर उसे चाटने लगा वो एक दम से पागल हो गयी थी और जगह मेरे बदन पर किस  कर रही थी और कई बार दांत भी गडा चुकी थी उसके अन्दर एक आग लग चुकी थी ऐसा करते करते मैं उससे अलग हो गया | आलिया बोली क्या हुआ विजय कितना मजा आ रहा है आओ  ना | मैंने कहा मैंने तुमसे वादा किया था की तुम्हारी मर्ज़ी के बिना कुछ नहीं करूंगा अब वो आखिरी दौर की बारी है और जब तक तुम नहीं कहोगी मैं वो सब नहीं करूंगा | वो इतनी गरम हो चुकी थी की मना करने के मूड मैं नहीं थी प्लीज आओ ना जो करना है करो प्लीज | अब में भी मजे लेने के मूड मैं आ गया तो ठीक है तुम कहो की मेरी चूत में लंड डाल कर चोदो| आलिया प्लीज विजय मुझे बोलते हुए शर्म आती है तुम करो ना जो तुम करना चाहते हो |

नहीं आलिया पहले तुम कहो तभी मैं वादे के मुताबिक़ कार्य कर पाऊंगा | आलिया इतनी गरम हो चुकी थी की कुछ भी कहने को तैयार थी बोली तुम बहुत गंदे हो चलो आओ मेरी चूत में अपना लंड डाल कर चोद दो | मैं बहुत खुश था की आलिया जेसी चूत वो भी पहले एक्सपीरियंस में ही उसका भी पहला एक्सपीरियंस था और मेरा भी| मैंने ब्लू फिल्मो में तो बहुत देखा था  लेकिन करने पहली बार जा रहा था| Sex

With GirlFriend.

मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर रखा जो की भट्टी की भाँती गर्म थी और मुझे पता था की पहली बार बहुत दर्द होता है और अलिया को भी वो दर्द होगा मैंने थोड़ी करीम उसकी चूत पर लगाई और धीरे से एक झटका मारा मेरा थोडा सा लंड उसकी चूत के अन्दर घुस गया वो एक दम से चिल्लाई और रोने लगी बोली प्लीज बाहर निकालो बहुत दर्द हो रहा है | फिर में उसके बूब्स को दबाकर सहलाकर उसे चुप करवा रहा था और इसी के साथ मैंने दूसरा झटका मार दिया और अब मेरा पूरा लंड चूत में चला गया और लंड पर खून की कुछ बूंदे उफफफफ्फ़ गरम गरम वाह मज़ा आ गया मेरा भी लंड उसकी पहली चुदाई और चूत का छोटा छेद होने की वजह से रगड़ खाकर थोड़ा सा छिल गया, जिसकी वजह से मुझे भी हल्का सा दर्द हुआ। Sex With GirlFriend.

 

अब आलिया को ज्यादा दर्द हुआ, लेकिन फिर भी में अपनी तरफसे लगातार धक्के देकर चोदता रहा और तेज़ी से अपने लंड को चूत के अंदर डालता और निकालता रहा। अब आलिया उफफफ्फ़ आह्ह्ह्ह माँ मर गई करने लगी और मज़े लेने लगी। फिर कुछ देर बाद वो अपनी गांड को उठा उठाकर मेरा साथ देने लगी और अब आलिया रंडी की तरह आह्ह्ह्हह्ह उऊह्ह्हहह कर करके मज़े ले रही थी। मैंने कुछ देर धक्के देने के बाद उसको कुतिया बना दिया और उसकी गांड को ऊपर की तरफ उठा दिया। उसके बाद में अपने लंड को उसकी गांड पर रगड़ने लगा और उसकी गांड बड़ी मस्त थी। अब आलिया भी मुझसे बोली कि हाँ विजय उफ्फ्फ्फ़ आईईईई डाल दो गांड में तुम अपना लंड। S

 

 

 

दोस्तों फिर क्या था? मैंने उसकी गांड के छेद पर उंगली से सहलाना शुरू कर दिया और चूत को अंगूठे से सहलाने लगा। उसके बाद मैंने गांड पर लंड को रगड़ना चालू कर दिया और गांड पर लंड का ज़ोर लगाने लगा, लेकिन मैंने महसूस किया कि उसकी गांड बहुत टाइट थी। फिर उसके बाद में अपने दोनों हाथों से गांड को फैलाकर लंड को अंदर डालने लगा। उफफ़फ्ड मुझे ऐसा लग रहा था कि लंड को किसी तंग गली में जबरदस्ती डाल दिया गया हो उफ़फ्फ़ मुझे बहुत बहुत दर्द हो रहा था। Sex

With GirlFriend.

अभी तक तो मेरे लंड का टोपा ही उसकी गांड के अंदर गया था और उसकी वजह से अब आलिया चीखने लगी फिर आलिया की पतली कमर को मैंने कसकर पकड़ लिया आआहह और में उसके ऊपर पूरा सवार हो गया और गांड को पूरी चौड़ी करके लंड को फुक्ककककक से एक जोरदार धक्कादेकर मैंने अब पूरा अंदर डाल दिया जिसकी वजह से आलिया चीखने लगी, लेकिन में फिर भी अपने काम में लगा रहा और मैंने धक्के लगाने लगातार जारी रखे उउफ़फ्फ़ में उसकी जड़ तक लंड को पूरा अंदर डालता रहा और फिर से खींचकर लंड को बाहर निकाल लेता। Se

x With GirlFriend.

तो कुछ देर बाद अब मैंने आलिया को सीधा लेटा दिया में उसके पास में लेट गया और उसके करीब आते हुए बूब्स पर हाथ फेरने लगा उफफफफ्फ़ वाह मज़ा आ गया। में अब बूब्स की उस गोलाई पर अपनी उँगलियों को गोल गोल घुमाने लगा जिसकी वजह से आलिया आआहहहह उफ्फ्फफ्फ्फ़ करने लगी। में निप्पल को भी अपनी जीभ से छू रहा था वाह क्या पल था वो उसका एक गोला मेरे हाथ में और दूसरा मुहं में। अब में निप्पल पर ज़ोर से जीभ चलाने लगा और दूसरे हाथ से दूसरे बूब्स को मसलने लगा बूब्स पर अपना मुहं लगाकर मैंने उसका पूरा बूब्स अपने मुहं में भर लिया और चूसने लगा आलिया तो जैसे सिहर गई और आहह्ह्ह ऊईईईइ माँ मर गई की आवाज़ के साथ वो झड़ गई। Sex Wit

h GirlFriend.

दोस्तों मैंने रुके रहने के लिये सेक्स की गोली खा रही थी, इसलिए में तो अब तक नहीं झड़ा था, बस मुझे उसकी चुदाई और बूब्स ही दिख रहे थे। अब उसके दूसरे बूब्स की बारी थी और में अब दूसरे बूब्स पर मुहं लगाकर चूसने लगा और धीरे धीरे हाथ उसके पेट पर चलाने लगे। उसके पेट पर नाख़ून से हल्के हल्के नोचने लगा और वो कसमसाने लगी। अब उसके पेट पर चूमने लगा और चूत की तरफ आकर मैंने आहह सीधे अमृतकलश पर अपना मुहं रखकर हिला हिलाकर चूसना चालू किया अब आलिया एक बार फिर से झड़ने को तैयार थी। फिर मैंने उसकी चूत को अपनी जीभ को अंदर डाल डालकर चाटना चूसना शुरू कर दिया उउफ़फ्फ़ वाह क्या मजेदार चूत थी उसकी आआहह। Sex

With GirlFriend.

अब मैंने उसके दोनों बूब्स को पकड़े और उन्हे आपस में मिला दिया और लंड को दोनों बूब्स के बीच में रखकर ज़ोर के झटके दे देकर लंड को अब मैंने उनके अंदर डालना शुरू कर दिया। मेरे हर एक धक्के के साथ वो हिल जाती आहहह उउउफफफ्फ़ वाह क्यालम्हा था। उसके बूब्स से लंड होता हुआ उसकी गर्दन तक चला जाता में तो एकदम पागल ही हो गया था। अब उसकी बारी थी और उसने लंड को बूब्स से बाहर निकाला और मुझे धक्का देकर लेटा दिया और फिर लंड को अपने हाथों में ज़ोर से पकड़ लिया। आलिया अब मेरे लंड को मसल रही थी और उसके टोपे को सहला रही थी।

Sex With GirlFriend.

मैंने उससे लंड को किस करने के लिए बोला और आलिया बोली कि विजय में इस बाबूराव को तो पूरा खा जाउंगी और उसने लंड पर किस करना शुरू कर दिया। अब वो एकदम रंडियो की तरह मेरे लंड के टोपे पर अपनी जीभ से सहला रही थी और लंड को नीचे तक चाट रही थी। उसने अब एक हाथ से लंड और दूसरे में गोलियों को पकड़ लिया और अपनी हथेली में लेकर हल्के हल्के हिलाने लगी, जैसे वो उनके साथ खेल रही हो उसे मज़ा आ रहा हो। Sex

With GirlFriend.

फिर उसके बाद लंड को मुहं के अंदर लेकर पूरा अंदर भरकर ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी और दूसरे हाथ से गोलियों को मसल रही थी। मैंने उसके सर को पकड़ लिया और एक ज़ोर का झटका देकर लंड को उसके पूरे हलक तक उतार दिया, जिसकी वजह सेउसकी सांसे अटक गई और आँखों से आंसू बहने लगे और वो आअहह गू गू करने लगी, लेकिन मुझे वाह क्या मज़ा आ रहा था? मैंने अब अपने लंड को अंदर बाहर करना शुरू कर दिया और में उसके मुहं को चोद रहा था। कभी लंड को पूरा अंदर तो कभी बाहर कभी जल्दी जल्दी तो कभी धीरे धीरे धक्के मारने लगा था और वो लंड का मज़ा लेते हुए मेरे आंड को मसल रही थी। उसने जोश में आकर लंड पर अपने दाँत भी लगा दिए थे उूउउफ़फ्फ़ मेरी तो एकदम जान ही निकल गई। फिर मैंने उसके मुहं से लंड को तुरंत बाहर निकाल दिया।

 

उसने लंड को ऊपर उठाया और आंड पर अपना मुहं लगा दिया वो एक एक करके दोनों गोलियां चूसने लगी और एक गोली को मुहं में भरती और ज़ोर ज़ोर से चूसती, जिससे में बहुत जोश में आ गया और मुझे अब बर्दास्त नहीं हुआ। मैंने उसे लेटा दिया और लंड को उसकी चूत के मुहं पर सेट करके एक जोरदार धक्का देकर पूरा लंड चूत के अंदर ठूंस दिया और अब में धक्के पे धक्के लगाने लगा, वो मेरे कुछ धक्के लगाने के बाद ही आहह उफ्फ्फफ्फ्फ़ माँ मर गई प्लीज थोड़ा धीरे करो कहने लगी। फिर में उसके कहने पर अब धीरे धीरे धक्के देकर चोदने लगा, लेकिन कुछ देर बाद मैंने अपने धक्को को स्पीड को दोबारा बढ़ा दिया| Sex With GirlFriend.

 

अब में लगातार ताबड़तोड़ धक्के देने लगा था और कुछ देर धक्के देने के बाद मैंने अपने लंड को चूत से बाहर निकालकर उसके दोनों पैरों को अपने कंधे पर रखा लिया और दोबारा लंड को खुली चूत के मुहं पर रखकर एक ज़ोर का धक्का देकर लंड को उसकी जड़ तक जबरदस्ती ठूंस दिया। मेरे अचानक से हुए इस प्रहार की वजह से वो दर्द की वजह से तिलमिला उठी और मैंने इस तरह कई बार किया। फिर कुछ देर बाद उसको इसकी आदत पड़ गई, लेकिन में अब झड़ने ही वाला था, क्योंकि मुझे धक्के देते हुए बहुत देर हो चुकी थी, तो इसलिए मैंने अपने धक्को की स्पीड को और ज्यादा बढ़ा दिया जिसकी वजह से उसके बूब्स अब हवा में हिल रहे थे और बहुत आकर्षक दिख रहे थे। मैंने एक बूब्स को पकड़ा और उसके निप्पल पर ज़ोर से चुटकी काट ली, वो दर्द की वजह से चिल्ला पड़ी।

 

फिर में अब बूब्स को सहलाते हुए धक्के देने लगा और मेरे हर एक धक्के पर उसका पूरा शरीर हिलने लगा और कुछ देर हल्के हल्के धक्के देने के बाद में झड़ गया और मैंने अपना वीर्य उसकी चूत की गहराइयों में डाल दिया जिसको पाकर वो चेहरे से बहुत संतुष्ट नजर आ रही थी। उसको आज पहली बार उस अनोखे सुख की प्राप्ति हुई थी और वो बहुत खुश संतुष्ट नजर आने लगी, जिसको देखकर में भी बहुत खुश था। S

Hindi Antarvasna

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *